BREAKING NEWS
स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प। स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प। रथयात्रा में जुड़ा था जनसैलाब, अयोध्या में राम मंदिर बनना ही था, प्राण प्रतिष्ठा से पहले बोले लालकृष्ण आडवाणी मेक इन इंडिया में फ्रांस अहम साझेदार, मिलकर बनाएंगे हथियार, पेरिस में बोले PM मोदी भारत में भी सीमा हैदर की जान को खतरा... पाकिस्तान भेजने पर अभी कोई फैसला नहीं फिल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत पढ़ी-लिखी हो, अमीषा पटेल को कई बार सुनने पड़े ताने

स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प।

स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने क...

स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प। मुरादाबाद नगर के काशीराम कॉलोनी स्थित कालीबाड़ी मंदिर परिसर में शुक्रवार की शाम को सभा का आयोजन किया गया जिसमें स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। सबसे पहले स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर पुष्प चढ़ाए गए वह हर अर्पित किए गए। साथ ही दीप प्रज्वलन ‌भी किया गया। लोगों ने स्वामी जी के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनके जीवन परिचय पर प्रकाश डाला। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते थे जो आज भी प्रासंगिक है। साथ ही उन्होंने युवा शक्ति को देश के लिए महत्वपूर्ण मानते हुए कहा था कि युवाओं उठो दौड़ो और लक्ष्य प्राप्ति तक चलते रहो यह वाक्य आज भी युवाओं पर खरा और सटीक बैठता है। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने स्वामी विवेकानंद जी के बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। इस मौके पर नारायण सिंह नेगी और आदेश कुमार बंसल ने बड़े सुंदर-सुंदर भजन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संयोजन व संचालक हिमांशु मुखर्जी ने किया इस दौरान कालीबाड़ी के प्रमुख सचिव असीम कुमार मित्रा उपाध्यक्ष श्यामल कुमार राय सहित शैलेश त्यागी, राजकुमार शर्मा, छेदीलाल ,विपिन कुमार सागर ,गायत्री मुखर्जी, अरिजीत मुखर्जी,सौरभ चक्रवर्ती ,नक्षत्र चक्रवर्ती, राजीव गंद, सुष्मिता चक्रवर्ती, अदिति मुखर्जी आदि सहित काफी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में प्रसाद व जलपान का वितरण किया गया।

वाई आई एस न्यूज़। मुरादाबाद । यूपी । स्...

वाई आई एस न्यूज़। मुरादाबाद । यूपी । स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प। मुरादाबाद नगर के काशीराम कॉलोनी स्थित कालीबाड़ी मंदिर परिसर में शुक्रवार की शाम को सभा का आयोजन किया गया जिसमें स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। सबसे पहले स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर पुष्प चढ़ाए गए वह हर अर्पित किए गए। साथ ही दीप प्रज्वलन ‌भी किया गया। लोगों ने स्वामी जी के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनके जीवन परिचय पर प्रकाश डाला। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते थे जो आज भी प्रासंगिक है। साथ ही उन्होंने युवा शक्ति को देश के लिए महत्वपूर्ण मानते हुए कहा था कि युवाओं उठो दौड़ो और लक्ष्य प्राप्ति तक चलते रहो यह वाक्य आज भी युवाओं पर खरा और सटीक बैठता है। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने स्वामी विवेकानंद जी के बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। इस मौके पर नारायण सिंह नेगी और आदेश कुमार बंसल ने बड़े सुंदर-सुंदर भजन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संयोजन व संचालक हिमांशु मुखर्जी ने किया इस दौरान कालीबाड़ी के प्रमुख सचिव असीम कुमार मित्रा उपाध्यक्ष श्यामल कुमार राय सहित शैलेश त्यागी, राजकुमार शर्मा, छेदीलाल ,विपिन कुमार सागर ,गायत्री मुखर्जी, अरिजीत मुखर्जी,सौरभ चक्रवर्ती ,नक्षत्र चक्रवर्ती, राजीव गंद, सुष्मिता चक्रवर्ती, अदिति मुखर्जी आदि सहित काफी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में प्रसाद व जलपान का वितरण किया गया। रिपोर्ट: सुनील दिवाकर, मुरादाबाद ब्यूरो चीफ।

स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने क...

स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर चलने का लिया संकल्प। मुरादाबाद नगर के काशीराम कॉलोनी स्थित कालीबाड़ी मंदिर परिसर में शुक्रवार की शाम को सभा का आयोजन किया गया जिसमें स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। सबसे पहले स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर पुष्प चढ़ाए गए वह हर अर्पित किए गए। साथ ही दीप प्रज्वलन ‌भी किया गया। लोगों ने स्वामी जी के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनके जीवन परिचय पर प्रकाश डाला। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते थे जो आज भी प्रासंगिक है। साथ ही उन्होंने युवा शक्ति को देश के लिए महत्वपूर्ण मानते हुए कहा था कि युवाओं उठो दौड़ो और लक्ष्य प्राप्ति तक चलते रहो यह वाक्य आज भी युवाओं पर खरा और सटीक बैठता है। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने स्वामी विवेकानंद जी के बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। इस मौके पर नारायण सिंह नेगी और आदेश कुमार बंसल ने बड़े सुंदर-सुंदर भजन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संयोजन व संचालक हिमांशु मुखर्जी ने किया इस दौरान कालीबाड़ी के प्रमुख सचिव असीम कुमार मित्रा उपाध्यक्ष श्यामल कुमार राय सहित शैलेश त्यागी, राजकुमार शर्मा, छेदीलाल ,विपिन कुमार सागर ,गायत्री मुखर्जी, अरिजीत मुखर्जी,सौरभ चक्रवर्ती ,नक्षत्र चक्रवर्ती, राजीव गंद, सुष्मिता चक्रवर्ती, अदिति मुखर्जी आदि सहित काफी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में प्रसाद व जलपान का वितरण किया गया।

हिंदी साहित्य पत्रिका राष्ट्रधर्म ने राम...

हिंदी साहित्य पत्रिका राष्ट्रधर्म ने राम मंदिर उद्घाटन को लेकर लालकृष्ण आडवाणी से खास बातचीत की. इसमें उन्होंने रथ यात्रा तक का जिक्र किया है. आडवाणी से बातचीत का आर्टिकल श्रीराममंदिर : एक दिव्‍य स्वप्‍न की पूर्ति’ नाम से 15 जनवरी को पत्रिका में प्रकाशित होगा. इसे प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आमंत्रित अतिथियों को दिया जाएगा. अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी का अहम बयान सामने आया है. उन्होंने इसे दिव्य सवप्न की पूर्ति करारा दिया और कहा कि वह अयोध्या पहुंचकर रामलला की प्राण प्रतिष्ठा देखने के लिए आतुर हैं. उन्होंने इस पल को लाने, भव्य मंदिर बनवाने और संकल्प पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई भी दी.दरअसल, हिंदी साहित्य पत्रिका राष्ट्रधर्म ने राम मंदिर उद्घाटन को लेकर लालकृष्ण आडवाणी से खास बातचीत की. इसमें उन्होंने रथ यात्रा तक का जिक्र किया है. आडवाणी से बातचीत का ये लेख श्रीराममंदिर : एक दिव्‍य स्वप्‍न की पूर्ति’ नाम से 15 जनवरी को पत्रिका में प्रकाशित होगा. इसे प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आमंत्रित अतिथियों को दिया जाएगा. पत्रिका में छपे लेख के मुताबिक आडवाणी ने कहा कि नियति ने तय कर लिया था कि अयोध्‍या में श्रीराम का मंदिर अवश्‍य बनेगा. बातचीत में उन्होंने कहा, रथ यात्रा शुरू होने के कुछ दिन बाद मुझे एहसास हुआ कि मैं सिर्फ एक सारथी था. रथ यात्रा का मुख्य संदेशवाहक रथ ही था और पूजा के योग्य था क्योंकि यह मंदिर निर्माण के पवित्र उद्देश्य को पूरा करने के लिए श्री राम की जन्मस्थली अयोध्या जा रहा था|

पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रो...

पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने शुक्रवार शाम संयुक्त रूप से प्रेस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने फ्रांस के साथ अपने संबंधों को और मजब.पीएम मोदी इस वक्त फ्रांस के दौरे पर हैं. यहां उन्होंने राष्ट्रपति मैक्रों से मुलाकात की और दोनों देशों के शीर्ष नेताओं की इस मुलाकात को भविष्य की कई य..

इस वक्त उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिल...

इस वक्त उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में स्थित एक गांव सुर्खियों में है. नाम है रबूपुरा और देशभर के लोगों की निगाह इस ओर सिर्फ इसलिए हैं क्योंकि पाकिस्तान से भागकर आई एक युवती सीमा हैदर का डेरा इसी गांव में है. पब्जी खेलते हुए सचिन नाम के युवक से प्यार फिर सरहद लांघकर भारत में घुसना, इन सारी बातों ने सीमा हैदर को और रबूपुरा गांव को सुर्खियों में ला दिया है. सुबह से लेकर रात तक दूर-दूर से आई लोगों की भीड़ जिनमें एक बड़ी तादाद मीडिया और सोशल मीडिया के लोगों की है, बस किसी तरह सीमा और सचिन की एक झलक पाने और खास तौर पर सीमा को अपने कैमरे में कैद करने के लिए बेताब हैं. बस इसी भीड़ ने यूपी पुलिस के कान खड़े कर दिए हैं. जिस तरह सीमा लगातार मीडिया से पाकिस्तान और धर्म के बारे में खुल कर बातें कर रही हैं, उसने खुद सीमा की जान को खतरे में डाल दिया है. लखनऊ में बैठे यूपी के एक आला पुलिस अफसर के मुताबिक सीमा जिस तरह से धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम से हिंदू बनने की बातें कर रही हैं, उसे देखते हुए इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कोई सिरफिरा भीड़ या मीडिया का चोला पहन कर सीमा पर जानलेवा हमला कर सकता है. कुछ वक्त पहले ही प्रयागराज में मीडिया के भेष में ही तीन लोगों ने अतीक और उसके भाई अशरफ को पुलिस कस्टडी में ही गोली मार दी थी.

अमीषा ने बताया कि करियर में उन्होंने उतार-...

अमीषा ने बताया कि करियर में उन्होंने उतार-चढ़ाव तो देखे. पर एक चीज और थी जो उन्हें सुनने को बहुत मिली. वह था उनका पढ़ी-लिखी होना. कई लोगों को अमीषा से इसलिए दिक्कत थी कि वह काफी पढ़ी-लिखी हैं और फिल्म इंडस्ट्री में इतने पढ़े-लिखे लोगों के होने का कोई फायदा नहीं.

Chandrayaan-3: भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो आज चंद्रया...

Chandrayaan-3: भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो आज चंद्रयान-3 लॉन्च करने जा रही है. चंद्रयान-3 दोपहर 2 बजकर 35 मिनट पर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से लॉन्च होगा. ये भारत का तीसरा मून मिशन है. चंद्रयान-3 को चंद्रयान-2 का फॉलोअप मिशन बताया जा रहा है. मिशन का मकसद चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग करना है. चंद्रयान-3 का भी असली मकसद है, जो चंद्रयान-2 का था. यानी, चांद के दक्षिणी ध्रुव पर नरम उतरना। इसरो के इस तीसरे मून मिशन की लागत करीब 615 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इसरो के मुताबिक, चंद्रयान-3 के तीन मकसद हैं. पहला- विक्रम लैंडर की चांद की सतह पर सुरक्षित और सॉफ्ट लैंडिंग करना. दूसरा- प्रज्ञान रोवर को चांद की सतह पर चलाकर दिखाना. और तीसरा- वैज्ञानिक परीक्षण करना. अगर चंद्रयान-3 का लैंडर चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंड कर जाता है तो ऐसा करने वाला भारत चौथा देश होगा. इससे पहले अमेरिका, रूस और चीन चांद की सतह पर लैंडर उतार चुके हैं. हालांकि, दक्षिणी ध्रुव पर लैंडर उतारने वाला भारत पहला देश होगा. आजतक किसी भी देश ने दक्षिणी ध्रुव पर लैंडर नहीं उतारा है.

Raj Kumar
12345 123

Leave a comment

Get In Touch

Near Railway Under Bridge, Bilari Moradabad U.P

+91 9997392999

info@yisnews.in

Follow Us
Flickr Photos

© YIS NEWS. All Rights Reserved. Design by YIS NEWS